तुरंत एसिडिटी का इलाज । HOME REMEDIES FOR ACIDITY IN HINDI

 

Home remedies for acidity
Acidity


एसिडिटी का इलाज , लक्षण और कारण । HOME REMEDIES FOR ACIDITY , SYMPTOMS & CAUSES

आजकल की मसरुफ़ जिंदगी में हम खानें पीने का ज़्यादा ध्यान नही देते हैं जिसके परिणामस्वरूप हम बीमारियों का शिकार हो जाते हैं।

अम्लपित्त यानी Acidity को लीजिए यह बीमारी अब हर इंसान की समस्या बनती जा रही है पर इसका Home remedies for acidity संभव है। इसका मुख्य कारण तेल, मिर्च मसालेदार खाने का उपयोग करना ।

यह मसालेदार खाना  हमारे पेट में जाकर ऐसिड को कम करने की बजाए बढ़ा देते हैं जिससे हमारे पेट में जलन खटटी डकारें आने लगती है और हमें Acidity Problem होने लगती है।

आइए हम आगे जानते हैं कि एसीडिटी क्या है और यह क्यों होती है इसके लक्षण और इसका घरेलू इलाज के बारे में हम आपको बताते हैं।


विषय सूची। TABLE OF CONTENTS


• एसीडिटी क्या है। What Is Acidity In Hindi

• एसीडिटी के लक्षण। Acidity Symptoms In Hindi

• एसीडिटी के कारण। Acidity Causes In Hindi

• एसिडिटी का इलाज। Acidity Ka ilaj

• एसिडिटी से बचनें के उपाय। Acidity Se Bachne Ke Upay



 कब्ज़ का घरेलू इलाज  इसको भी पढ़िए

एसीडिटी क्या है । WHAT IS ACIDITY IN HINDI

हमारे पेट में प्राकृतिक रूप से अम्ल जिसे एसिड कहते यह बनता है जो हमारे खाने को पचाने का काम करता है।

कभी कभी हमारे पेट में खाना कम होता है या तैलीय और चटपटा मसाले दार खाना होता है जिसकी वजह से खाना समय पर पच नही पाता है। 

तैलीय और मसाले दार खाना देर में और मुश्किल से पचता है और यह एसिड को और बढ़ाता है जिसकी वजह से पेट में जलन , सीने में जलन या खट्टी डकारें आती हैं जिसे एसिडिटी कहते हैं।

एसीडिटी होने पर इसका हंम Home remedies for acidity अपने घर पर बहुत आसानी से कर सकते हैं। आइए हम आपको इस समस्या से बचने के लिए इसका घरेलू इलाज बताते हैं।

सबसे से पहले हम आपको इसके लक्षण और इसके कारण बताते हैं।


दस्त ( डायरिया ) रोकने का घरेलू इलाज इसको भी पढ़िए

एसीडिटी के लक्षण । ACIDITY SYMPTOMS IN HINDI

एसीडिटी को पहचानने के लिए हमें एसीडिटी के लक्षण जानना जरूरी है जिससे Acidity ka ilaj करना हमारे लिए आसान हो जाए तो आइए जानते हैं एसिडिटी के लक्षण क्या हैं ?

• खटटी डकारें आना

• पेट में जलन महसूस होना

• पेट में गैस का बनना

• कब्ज़ या अपच का होना

• गले में जलन होना

• सीने में जलन होना

• कभी - कभी उलटी होना 

इनमें से कोई लक्षण नज़र आए तो समझिए कि एसिडिटी की समस्या है अब Acidity ka gharelu ilaj करके समस्या का समाधान हो सकता है।


एसीडिटी के कारण ।  ACIDITY CAUSES IN HINDI

एसीडिटी से बचने के लिए हमें यह बात मालूम हो जाए कि एसीडिटी होने के कारण क्या है तो हमारा एसीडिटी से बचना बहुत आसान हो जाएगा। 

• बाहर का खाना अधिक खाना

• कम या ज्यादा खाना 

• बे वक्त खाना खाना

• तैलीय और मसालेदार खाना 

• ज्यादा तनाव लेना

• चटपटा नानवेज ज्यादा खाना

• शराब का ज्यादा सेवन करना

• अधिक काम करने से थकान का होना

 


Home remedies for acidity
Acidity


एसिडिटी का इलाज । ACIDITY KA ILAJ

1. नींबू

एसिडिटी में नींबू का उपयोग करना लाभदायक होता है क्योंकि नींबू अम्ल को खत्म करता है।

एक कप गर्म पानी में एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर पीने से अम्लपित्त नष्ट हो जाता है। इसको दिन में तीन बार उपयोग करें।

खाना खाने के बाद एक कप पानी में नींबू का और खानें का सोडा मिलाकर पीने से बहुत जल्दी अम्लपित्त दूर हो जाता है।

चौंका दे केले के फ़ायदे  इसको भी पढ़िए

2. केला 

Acidity में पेट में जलन महसूस होती है ऐसी स्थिति में केला खाना चाहिए यह पेट को ठंडा करता है और अम्लपित्त को दूर करता है।

पके हुए केले में थोड़ा सा घी डालकर खाने से अम्लपित्त में बहुत जल्दी आराम मिलता है।

दो केलों को अच्छी तरह मिक्स कर लीजिए और इसमें थोड़ी शक्कर और इलायची मिलाकर खानें से अम्लपित्त दूर होता है।


Home remedies for acidity
Ajwain For Acidity


3. अजवाइन

काली मिर्च तीन , पीपल दो और एक चम्मच अजवाइन को थोड़े पानी में रात को भिगो दीजिये ।

सुबह इनको पीसकर एक गिलास पानी में निकालिए और दो चम्मच मिश्री मिलाकर सुबह इसको पी लीजिए ।

यह पेट को ठंडा करता है और Acidity को ख़त्म कर देता है।


4. दूध

जिन लोगों को Acidity Problem  होती है उन लोगों को ठंडा दूध उपयोग करना चाहिए बहुत जल्दी एसीडिटी में लाभ होता है।

एक कप गर्म दूध में नींबू निचोड़कर दूध को फाड़ लीजिए और ठंडा होने पर इसको छानकर पानी पियें और पनीर भी उपयोग करें।

यह पेट को ठंडा करके अम्लपित्त को शांत करता है और एसिडिटी के घाव भी भरता है।


5. मुलहठी

खानें के बाद डकारें आती है सीने में जलन होती है तो मुलहठी का सेवन करने से लाभ होता है।

मुलहठी के छोटे-छोटे टुकड़े कर लीजिए और खाना खाने से पहले इनको चूसना चाहिए फिर खाना खाएं।

मुलहठी सीने में जलन और डकारों से छुटकारा दिलाता है और एसीडिटी को दूर कर देता है।

हैरान कर दे कलौंजी के फायदे और उपयोग  इसको भी पढ़िए

हैरान कर दें कलौंजी के फायदे    इसको भी पढ़िए

6. कलौंजी

आधा चम्मच कलौंजी के तेल को एक कप दूध में मिलाकर पीने से एसिडिटी से छुटकारा मिल जाता है।

एक कप अदरक के रस में आधा चम्मच कलौंजी के तेल को मिलाकर सुबह खाली पेट और रात को सोते समय पीने से एसिडिटी में राहत मिलती है।


Home remedies for acidity
Maithi For Acidity


7. मेथी

Acidity home remedies के लिए मेथी के पत्तों का उपयोग करना लाभदायक होता है।

पचास ग्राम मेथी के पत्तों का रस निकालकर उतनी ही मात्रा में पानी मिलाकर पीने से एसिडिटी में बहुत जल्दी लाभ होता है।


8. पेठा

पेठा रक्त में से पित्त को कम कर देता है और एसिड को शरीर से बाहर निकाल देता है जिससे जलन दूर होती है।

सुबह-सुबह खाना खाने के बाद पेठा रोज़ाना खाने से पेट को ठंडक मिलती और एसिड कम होता है जिससे एसीडिटी में आराम होता है।

एसिडिटी के रोगी को खाने के बाद पेठा अवश्य उपयोग करना चाहिए।


9. आंवला

हम अपने घर पर रखे आंवले से बहुत आसानी से Acidity ka ilaj कर सकते हैं।

सूखे हुए आंवले को पीसकर इसमें बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर पानी के साथ खानें से एसीडिटी दूर होती है।

एक चम्मच आंवले के रस को पानी के साथ खाली पेट लेने से अम्लपित्त Acidity में आराम मिलता है।


10. पपीता

Home remedies for acidity के लिए पपीते का भी खूब उपयोग किया जाता है।

सीने में जलन या पेट में दर्द या जलन बड़ जाए तो पका हुआ पपीते में सेंधा नमक और काला नमक मिलाकर खाएं इससे एसीडिटी में आराम मिलता है।

पपीता पेट साफ करता है और लीवर को मजबूत बनाता है और पेट के लोगो से बचाता है।


Home remedies for acidity in hindi
Nariyal Pani For Acidity


11. नारियल पानी

नारियल पानी हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है खासतौर पर पेट के लिए।

एसीडिटी होने पर दिन में दो बार नारियल पानी पिया जाए तो बहुत जल्दी एसीडिटी में आराम मिलता है।

नारियल पानी पेट को ठंडक देता है और एसिड को शांत करके हमें एसिडिटी से छुटकारा दिलाता है।


12. दही

एसीडिटी से छुटकारा पाने के लिए हम मीठे दही का उपयोग कर सकते हैं इस Acidity remedies से बहुत जल्दी फ़ायदा होता है।

एसीडिटी में खट्टा दही उपयोग नही करना चाहिए यह एसीडिटी को और बढ़ाता है। जब भी एसीडिटी की समस्या लगे तो मीठा दही उपयोग करें।

दही पेट की गर्मी और एसिड को दूर करके पेट को ठंडा करता है और सुस्ती व कमजोरी को भी दूर करता है और एसीडिटी से हमें राहत मिलती है।


13. छाछ

Home remedies for acidity के लिए छाछ का उपयोग करना बहुत कारगर उपाय है।

जब भी एसीडिटी की समस्या लगे तो छाछ में पांच पिसी हुई कालीमिर्च मिलाइए और इसमें स्वाद के लिए मिश्री मिलाकर दिन में दो से तीन बार पिये।

छाछ पेट दर्द को दूर करता और पेट को ठंडा करके बहुत जल्दी एसीडिटी से छुटकारा दिलाता है।


14. देसी घी

हम सब जानते हैं कि देसी घी पोषक तत्वों से भरपूर होता है हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

एसीडिटी की समस्या से बचने और Acidity home remedies  करने के लिए सोते समय पैरों के तलवों पर देसी घी की मालिश करें और सो जाएं।

इससे एसीडिटी में बहुत फायदा मिलता है।


Home remedies for acidity in hindi
Gud For Acidity

गुड़ खानें के फ़ायदे और नुक़सान इसको भी पढ़िए

15. गुड़ 

गुड़ स्वाद के साथ ही सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह गुणों से भरपूर होता है ।

गुड़ में खासतौर पर औषधीय गुण होते हैं। जब एसीडिटी महसूस हो तो खाली पेट थोड़ा सा देसी गुड़ खाए।

गुड़ पेट के रोगों के लिए बहुत फायदेमंद होता यह पेट दर्द , अम्लपित्त को बहुत जल्दी दूर करता है।


16. बील का गूदा

Acidity Problem से छुटकारा पाने के लिए बील का उपयोग करना भी फायदेमंद होता है।

ताज़ा बील से एक चम्मच गूदा निकाल कर उसमें १/४ चम्मच पिसी हुई हरड़ मिलाकर इसमें थोड़ा सा सेंधा नमक डालकर खाएं।

इसके उपयोग करने से पेट में जलन , सीने में जलन और गले में जलन बहुत जल्दी दूर हो जाती है और एसीडिटी में आराम मिलता है।


17. पत्तागोभी का रस

एसिडिटी की समस्या हो तो पत्तागोभी खाए या पत्तागोभी का रस निकालकर उपयोग करने से अम्लपित्त में लाभ होता है।

आधा कप में पत्तागोभी का रस निकालें फिर इसमें 6 चम्मच पानी मिलाएं और रोगी को सुबह-शांम पिलाएं।

यह Home remedies for acidity  एसीडिटी की समस्या से बहुत जल्दी छुटकारा दिलाता है।


Home remedies for acidity in hindi
Karela For Acidity

करेले के फ़ायदे इसको भी पढ़िए

18. करेले का रस

करेला खानें में बहुत कड़वा होता है पर यह गुणों से भरपूर होता है और हमारी रोगों से सुरक्षा भी करता है। इसको एसिडिटी में खाना लाभदायक होता है।

अधा कप करेले का रस निकालें फिर इसको १/४ कप पानी में मिलाएं फिर इसमें पिसा हुआ आंवले का चूर्ण मिलाकर एक दिन में तीन बार रोगी को पिलाएं।

इसको पीने से बहुत जल्दी एसीडिटी की समस्या में आराम मिलता है।


19.  आलू

गर्म राख या  गर्म रेत में भुना हुआ आलू खाने से Acidity में लाभ होता है।

आलू में पोटेशियम होता है और इसकी तासीर क्षारीय होती है जो हमारे पेट में होने वाली अम्लता को कम करता है।

इसलिए एसीडिटी के रोगियों को अपने खानें में आलू का अधिक उपयोग करना चाहिए क्योंकि इससे एसिडिटी से बचाव करना संभव है।


20. ठंडा पानी

पानी को बर्फ़ से या फ्रिज में अच्छा ठंडा कर लें फिर एक कपड़े को इस पानी में भिगोकर थोड़ा निचोड़कर पेट पर रखे।

फिर गीले कपड़े को किसी सूखे कपड़े से पेट पर बांधे और एक घंटे तक बना रहने दें और एक घंटे बाद खोल दें।

इस  Home remedies for acidity से एसीडिटी के साथ पेट के अन्य रोगों में फ़ायदा होता है।


एसीडिटी से बचने के उपाय । ACIDITY SE BACHNE KE UPAY 

एसीडिटी से बचना चाहते हैं तो कुछ आसान और कारगर उपाय है इससे हमेशा के लिए एसीडिटी से निजात मिल सकती है आइए जानते हैं कि वह उपाय क्या हैं।

•  खाना अपने घर का खानें की आदत डालें क्योंकि घर का खाना स्वादिष्ट और पौष्टिक होता है जो हमें स्वस्थ्य रखता है।

• खानें में ज़्यादा तला , मिर्च मसालेदार और चटपटा खानें से बचना चाहिए इससे एसिडिटी होने का खतरा बढ़ता है।

• धुम्रपान और शराब के सेवन से बचना चाहिए यह एसीडिटी को बढ़ाने का काम करते हैं।

• सोडा या कोल्डड्रिंक कम उपयोग करें इसकी बजाय फलों का रस या शरबत का उपयोग करें।

• अपने वज़न को कंट्रोल करें मोटापाग्रस्त लोग जल्दी एसीडिटी का शिकार हो जाते हैं।

• ताज़ी सब्जियां , फल और दाल का ज्यादा  उपयोग करें बाहर की रेडीमेड चीजें खानें से बचें।


HealthZone3.com

Syed Zafar Iqbal is the founder, developer, and author of HealthZone3.com . What began as a grad school hobby is now a top Health blog, with millions of readers coming to his site for reading health related content . He lives and continues to write non-stop in Madhya Pradesh . His first blogpost was published in 2020 . Visit him at Healthzone3.Com .

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने