हैरान कर दें कलौंजी के फायदे,उपयोग और नुक़सान। KALONJI KE FAYDE , UPYOGE AUR NUKSAN

 


Kalonji Ke Fayde
Kalonji Ke Fayde

कलौंजी के फायदे और नुक़सान । KALOJI KE FADE AUR NUKSAN 


Kalonji वनस्पति पौधे के बीज हैं । ये बीज ख़ासतौर पर दवा के लिए काम मे इस्तेमाल किये जातें हैं। 
कलौंजी के बीजों को पीसकर पाउडर बनाए फिर इसको छांन कर पानी में या शहद में  मिलाकर किसी भी रोग मे इस्तेमाल करें बहुत जल्दी फायदा मिलेगा ।
Kalonji Oil बहुत फायदेमंद होता है अगर तेल उपलब्ध न हो तो इसको पीसकर पाउडर बनाकर शहद के साथ उपयोग करने से ये तेल की तरह फायदेमंद होता है ।
Kalonji Seeds Benefits मे शहद के साथ सेवन करनें से सिर दर्द , पेट के रोग और चर्म रोग में जबरदस्त फायदा देता है ।
सिरके मे कलौंजी पाउडर मिलाकर खाना रोगों के लिए बहुत उपयोगी और फायदेमंद होता है ।


विषय सूची । TABLE OF CONTENTS IN HINDI

• कलौंजी के फायदे, उपयोग और नुक़सान । Kalonj Ke Fayde Upyoge Aur Nuksan

• कलौंजी क्या है । What Is Kalonji In Hindi

• कलौंजी के फायदे ।  Kalonji Benefits In Hindi

• कलौंजी के उपयोग । Uses Of Kalonji In Hindi

• कलौंजी के नुक़सान । Side Effects Of Kalonji In Hindi



Lemon Benefits In Hindi  इसको भी जानिंए

कलौंजी क्या है । KALONJI KYA HAI 


कलौंजी के पौधे की खेती की जाती है । इसके पौधे का तना सीधा खड़ा होता है । इसके पत्ते मटमेले और हरे रंग के होते हैं ।इसके फूल नीले रंग के होते हैं ।
कलौंजी के पौधे का फल गोल जैसा होता है । इसके बीज काले और छोटे छोटे होते हैं । इन बीजों को ही कलौंजी कहा जाता है ।
Kalonji Benefits In Hindi  को खानें के मसाले में और चिकित्सा के छेत्र में रोगों के इलाज में उपयोग किया जाता है । 
Kalonji खानें में कड़वी और सुगंधित होती है । यह पतले मल को गाढ़ा करती है और भूख बढ़ती है ।
कलौंजी को यूनानी चिकित्सा पद्धति में दवाएं बनाने में बहुत अधिक इस्तेमाल किया जाता है । Kalonji Ke Fayde के साथ साथ कलौंजी का तेल भी बहुत उपयोगी है और यूनानी मेडिकल पर उपलब्ध हो जाता है ।


Tulsi Leave Benefits In Hindi इसको भी जानिंए

कलौंजी के फायदे । KALONJI BENEFITS IN HINDI

आइए हम आपको बताते हैं कि Kalonji Ke Fayde हमारी सेहत के लिए कितना महत्वपूर्ण हैं । अपने आप को रोगों से बचाने और सेहतमंद रहने के लिए कलौंजी को रोजाना खानें की आदत डालें।

1. दिल के रोगों से बचाव ।

दिल के रोगों से बचाव के लिए Kalonji Oil Benefits In Hindi एक अच्छा विकल्प है । इसको इस्तेमाल करें ।
एक कप गर्म दूध में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर रोजाना सुबह-शाम पिलाएं सुबह खाली पेट और रात को सोते समय ।
दस दिन तक इस उपचार को करते रहना चाहिए । इससे नाड़ियों की रूकावट खुल जाती है । चर्बी वाली चीजों से परहेज़ करना है।
ये दिल का दर्द और दिल पर दबाव दूर करता है और वाल्व के ब्लाकेज को खोल देता है ।

Green Tea Ke Fayde  इसको भी जानिंए

2. मधूमेह में फायदा होता है ।

कलौंजी में पाए जाने तत्व मधूमेह रोगियों पर प्रभावशाली असर करते है । ये तत्व शरीर मे शर्करा को कम करने की क्षमता रखते हैं ।
एक कप गर्म पानी में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर सुबह खाली पेट पिए और रात को खाना खाने के बाद सोते समय पिए फायदा होगा।
अगर इससे फायदा कम लग रहा हो तो 60 ग्राम कलौंजी , 30 ग्राम अनार का छिलका लेकर बारीक पीसकर मिला लें फिर उसमें आधा चम्मच कलौंजी के तेल में मिलाकर सुबह खाली पेट इस्तेमाल करें लगभग एक माह तक बहुत लाभ मिलेगा।


3. कैंसर से बचाव ।

Kalonji Ke Tel Ke Fayde कैंसर से बचाव के लिए बहुत कारगर है ।
गले का कैंसर हो या ब्लड कैंसर हर प्रकार के कैंसर से छुटकारा पाने के लिए एक ग्लास अंगूर के रस में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाएं ।
इसको दिन में तीन बार सुबह खाली पेट , दिन में खाने के बाद और रात को सोते समय रोगी को पिलाएं ।
दो किलो गेहूं का आटे में एक किलो जौं मिलाकर इसका दिलिया बनाकर रोगी को खिलाएं एक माह तक यह उपचार करें रोगी को लाभ मिलेगा ।

Benefits Of Alum In Hindi  इसको भी जानिंए

4. याददाश्त बढ़ती है ।

याददाश्त कमज़ोर हो जाए तो कलौंजी के पांच दाने पीसकर एक चम्मच शहद और आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर रोजाना पिलाएं ।
इसको पिलाने के साथ दालचीनी के छोटे-छोटे टुकड़े करके दिनभर में चार बार चूसें लाभ मिलता है ।
एक चम्मच घी में दो बूंदें कलौंजी के तेल मिलाकर इसमें स्वाद के लिए शक्कर मिलाएं और रोज़ाना सुबह खाली पेट रोगी को खिलाएं लाभ होगा ।



Kalonji Ke Fayde
Kalonji For Pathri


Pathri Ka ilaj  इसको भी जानिंए

5.पथरी से छुटकारा ।

Kalonji Oil Benefits In Hindi हमे गुर्दे की पथरी से छुटकारा दिलाते हैं।
इसके लिए एक कप गर्म पानी करके उसमें दो चम्मच शहद और आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर दिन में दो बार रोगी को पिलाएं।
सुबह खाली पेट और रात को सोते समय इसको इस्तेमाल करते रहे बहुत जल्दी पथरी बाहर निकल जाएगी ।
थोड़ा पपीता और थोड़ा गुड़ में तीन बूंदें कलौंजी के तेल की मिलाकर सुबह खाली पेट रोगी को खिलाएं ।
दो हफ्तों तक इसको करे और टमाटर और पालक का परहेज करें जल्दी आराम मिलेगा ।


6. बवासीर में आराम ।

Kalonji Ke Fayde हमें बवासीर जैसे रोग से छुटकारा दिलाते हैं ।
इसके लिए आधा चम्मच कलौंजी का तेल एक गर्म पानी में मिलाकर सुबह और रात को सोते समय पिलाएं ।
एक चम्मच सिरके में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर सुबह-शाम मस्से पर लगाएं लाभ मिलता है ।
आधा चम्मच कलौंजी के पाउडर को गर्म पानी में उबाले फिर ठंडा होने पर रोगी को पिलाएं बवासीर से छुटकारा मिलता है ।


7. लकवा मे लाभदायक है ।

लकवा के रोगियों के लिए Uses Of Kalonji बहुत अचछा उपचार है । 
इसके लिए आधा कप गर्म पानी में आधा चम्मच कलौंजी का तेल और एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार रोगी को पिलाएं ।
सुबह खाली पेट और रात को सोते समय इसका इस्तेमाल करना फायदेमंद है ।
लकवा होने पर कलौंजी के तेल को प्रभावित हिस्से के विपरित नाक के नथुने में डाले और कलौंजी का तेल मे शहद मिलाकर पिलाने से बहुत जल्दी आराम मिलता है ।

Benefits Of Soybean In Hindi  इसको भी जानिंए 

8. ब्लड प्रेशर नियंत्रित करता है ।

Kalonji Oil हमारे ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।
एक कप गर्म पानी में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर दिन में दो बार इस्तेमाल करें और साथ में लेहसुन की दो से तीन कलियां खाली पेट खाना फायदेमंद है ।
जेतून के तेल में एक चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर पूरे शरीर पर मालिश करे ।
इसके बाद थोड़ी देर धूप में बैंठे । इस प्रक्रिया को हफ्ते में तीन बार करे और तीन महीने तक करे ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहेगा ।


Kalonji Ke Fayde
Kalonji For Eyes


9. नेत्र रोग में आराम ।

मोतियाबिंद ,आंखों में पानी आना , आंखों की रोशनी में कमी जैसे रोगों से बचाव के लिए Kalonji Benefits In Hindi अच्छा उपचार है।
इसके लिए गाजर के रस में आधा चम्मच कलौंजी का तेल और दो चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार रोगी को खिलाएं ।
आंखो के चारों तरफ और पलकों पर कलौंजी का तेल सोते समय लगाएं । आंखो को धूप और गर्मी से बचाएं ।
एक माह तक यह उपचार करें नेत्र रोग से छुटकारा मिल जाएगा ।

Sir Ke Khujli ka ilaj  इसको भी जानिंए

10. सिर दर्द से छुटकारा ।

Kalonji Ke Fayde हमें सिर दर्द से छुटकारा दिला सकतें हैं ।
इसके लिए एक चम्मच शहद में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर दिन में तीन बार इस्तेमाल करें ।
इसके साथ-साथ कलौंजी के तेल को कांन के आसपास अच्छी तरह मले जलदी आराम मिल जाएगा ।
आधे सिर में दर्द हो रहा हो तो आधा चम्मच कलौंजी के तेल को गर्म दूध में मिलाकर पीएं ।
इसके साथ कलौंजी के तेल की एक बूंद दर्द के उलटी तरफ नाक में डालें इससे फायदा मिलेगा।


11. सफेद दाग़ से छुटकारा ।

अगर त्वचा पर लाल या सफेद रंग के दाग़ हो जाए तो कलौंजी तेल का इस्तेमाल करना फायदेमंद है ।
आधा चम्मच कलौंजी के तेल को एक चम्मच सिरके में मिलाकर सोते समय शरीर पर जहा दाग़ हो वहां पर लगाएं और सुबह पानी से धो लीजिए ।
ऐसा भी कर सकते हैं की एक चम्मच शहद , एक चम्मच सिरका और आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर दाग़ पर सुबह-शाम लगाएं और जब तक सही नही होता लगातें रहें।


12. मिर्गी मे लाभदायक है ।

अगर मिर्गी का ज़ोर ज्यादा है दवा से फायदा नही मिल रहा है तो Kalonji Benefits In Hindi से इसका उपचार करें फायदा मिलेगा।
एक कप में गर्म पानी लेकर उसमें आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाएं , दो चम्मच शहद मिलाकर दिन में तीन बार इस्तेमाल करें इससे फायदा मिलेगा ।
रोगी को उपचार के दौरान ठंडी सब्जियों और फलों का परहेज़ करना चाहिए।


13. पेट दर्द में आराम ।

पेट दर्द से छुटकारा पाने के लिए एक ग्लास नींबू पानी में आधा चम्मच कलौंजी का तेल और दो चम्मच शहद मिलाएं ।
इस पानी को दिन में दो बार सुबह-शाम एक हफ्ते इस्तेमाल करें दर्द में आराम मिलेगा ।
इससे फायदा कम हो रहा हो तो आधा ग्लास गर्म पानी में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर थोड़ा नमक डालकर इस्तेमाल करें फायदा मिलेगा ।


14. गैस में राहत मिलती है ।

पेट में बहुत गैस या मरोड़ हो रही हो तो इसके लिए Kalonji Oil Benefits In Hindi सबसे अच्छा उपचार है ।
इसके लिए आधा चम्मच कलौंजी के तेल में एक चम्मच अदरक का रस मिलाकर थोड़ा नमक डालकर पानी के साथ इस्तेमाल करें।
जब तक फायदा न हो इस उपचार को करते रहें पेट की गैस और मरोड़ की समस्या का समाधान हो जाएगा।

Kalonji Ke Fayde
Kalonji For Loose Motion


15. दस्त से छुटकारा ।

दस्त बहुत ज्यादा हो रहें हो और कमज़ोरी महसूस हो रही हो तो कलौंजी के तेल का इस्तेमाल करें 
इसके लिए कलौंजी के तेल का एक चौथाई चम्मच लेकर इसमें 100 ग्राम दही और दो चम्मच ईसबगोल मिलाएं ।
इसको दिन में तीन बार रोगी को खिलाएं और तीन दिन तक इस्तेमाल करने से दस्त में आराम मिलेगा ।
एक कप दही में एक चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर भी इस्तेमाल करने से दस्त में आराम मिलता है ।



Kalonji Ke Fayde
Kalonji Ke Fayde

कलौंजी के उपयोग । USES OF KALONJI IN HINDI

कलौंजी एक छोटा सा बीज हैं पर कलौंजी के फायदे अनगिनत है। कलौंजी के फायदे हासिल करने के लिए हम कई तरह से इसका उपयोग कर सकते हैं आइए जानते हैं कलौंजी के उपयोग ।

• कलौंजी का तेल बनाकर उपयोग किया जाता है ये सबसे ज्यादा उपयोगी माना जाता है । कलौंजी का तेल एक तरह से औषधि की तरह उपयोग किया जाता है ।

•  इसके बीज को पीसकर शहद के साथ उपयोग किया जाता है ।

• कलौंजी को दूध के साथ मिलाकर हल्वा बनाकर इस्तेमाल किया जा सकता है।

• इसको को अचार में उपयोग किया जाता है ।

• कलौंजी को दाल में मिलाकर स्वाद और सेहत के लिए उपयोग किया जाता है ।

• इसको को पावडर बनाकर मसाले के रूप में सब्जी बनाने में उपयोग किया जाता है।

• कलौंजी को बिरयानी में डालकर उपयोग किया जाता है।

• इसको नमकीन में मिलाकर उपयोग किया जाता है ।


कलौंजी के नुक़सान । SIDE EFFECTS OF KALONJI IN HINDI


हर चीज के फायदे के साथ-साथ नुक़सान भी होते हैं। अगर सही समय और मात्रा के साथ अपने चिकित्सक के मार्गदर्शन में इस्तेमाल किया जाए तो फायदा तो मिल सकता है वरना नुक़सान भी हो सकता है । इसी तरह कलौंजी के फायदे और नुक़सान दोनों हो सकते हैं ।आइए हम आपको बताते हैं कलौंजी के नुक़सान ।

• जिन लोगों का ब्लड प्रेशर कम रहता है उनको कलौंजी अपने चिकित्सक से परामर्श करके इस्तेमाल करना चाहिए ।  क्योंकि यह ब्लड प्रेशर को कम करता है जो रोगी के लिए घातक हो सकता है ।

• जिन लोगों का ओप्रेशन हुआ हो या होने वाला हो तो उनको कलौंजी बहुत अधिक मात्रा में बहुत अधिक समय तक नही खाना चाहिए क्योंकि यह ब्लड को पतला करता है जिससे ब्लीडिंग का खतरा बढ़ सकता है।
• गर्भवती महिलाओं को कलौंजी का इस्तेमाल करनें से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए क्योंकि इसमें किसी को नुक़सान हो सकता है । गर्भवती महिलाओं को सावधानी रखना चाहिए।
HealthZone3.com

Syed Zafar Iqbal is the founder, developer, and author of HealthZone3.com . What began as a grad school hobby is now a top Health blog, with millions of readers coming to his site for reading health related content . He lives and continues to write non-stop in Madhya Pradesh . His first blogpost was published in 2020 . Visit him at Healthzone3.Com .

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने