कमाल के है फिटकरी के फायदे । BENEFITS OF ALUM IN HINDI - HealthZone

कमाल के है फिटकरी के फायदे । BENEFITS OF ALUM IN HINDI


कमाल के हैं फिटकरी के फायदे  ।  BENEFITS OF ALUM IN HINDI 



Benefits of Alum in Hindi
Benefits of Alum

फिटकरी (Alum)का उपयोग आमतौर पर हम पानी को साफ करने के लिए और शेव बनाने के बाद अपनें चेहरे पर लगाने के लिए करते है ।
Benefits of Alum in Hindi और उपयोग स्वास्थ्य और सौंदर्य प्रसाधन के रूप में हासिल किया जा सकता है ।
इसका उपयोग (Alum Uses) खांसी से लेकर कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के उपचार के लिए किया जाता है ।
वेसे फिटकरी दिखने में चमकदार पत्थर सी लगती है पर ये औषधि गुणों से भरपूर है । ये बहुत सस्ती और बहुत आसानी से उपलब्ध हो जाती है ।
Benefits of Alum in Hindi शरीर की  कइ समस्याओं से हमें निजात पाने के लिए मिलते है । इस लेख में हम जानते हैं हमारे स्वास्थ्य और सौंदर्य के लिए Fitkari ke Fayde  उपयोग और नुकसान क्या है ।


विषय सूची । Table of contents

• फिटकरी क्या है  ।  What is Alum in Hindi 

• फिटकरी के प्रकार  ।  Types of Alum in Hindi

• फिटकरी के फायदे  ।  Benefits of Alum in Hindi 

• फिटकरी के उपयोग  ।  Uses of Alum in Hindi

• फिटकरी के नुक़सान  ।  Side Effects of Alum in Hindi


फिटकरी क्या है   ।   WHAT IS ALUM IN HINDI  


फिटकरी एक क्रिस्टल की तरह दिखती है । यह एक रंगहीन रासायनिक पदार्थ होता  है । इसको Alum के नाम से भी जाना जाता है । इसका रासायनिक नाम potassium  Aluminium Sulphate है।
चिकित्सा के छेत्र में इसको बहुत अधिक महत्व दिया जाता है । क्रिस्टल की तरस दिखने वाली Benefits of Alum in Hindi और उपयोग चिकित्सा के क्षेत्र मे बहुत अधिक होते हैं । 
ये कितने प्रकार की होती है आईए आगे हम जानतें हैं ।

फिटकरी के प्रकार । TYPES OF ALUM IN HINDI 

 
Fitkari Ke Fayde हासिल करने के लिए इसके विभिन्न प्रकार को जानना हमारे लिए बहुत आवश्यक है । आईए हम जानतें हैं फिटकरी कितने प्रकार की होती है ।

पोटैशियम एलम 

पोटैशियम एलम को पोटैशियम एलम सल्फेट के नाम से भी जाना जाता है । इसका इस्तेमाल लम्बे समय से किया जाता रहा है । कहा जाता है की प्राचीन काल से इसका उपयोग पानी को साफ करने के लिए किया जा रहा है ।

अमोनिया एलम 

अमोनिया  एलम  सफेद और  ठोस  पदार्थ होता है । आमतौर पर इसका उपयोग सोंदर्य प्रसाधन के रूप में किया जाता है ।

क्रोम एलम 

इसे क्रोमियम पोटैशियम सल्फेट के नाम से भी जाना जाता है । इसको ज्यादातर चमड़ा बनाने के लिए उपयोग किया जाता है ।

सोडियम  एलम 

इसे सोडा एलम के नाम से जाना जाता है । ये सफैद और ठोस प्रक्रृती की होती है । इसका उपयोग बेकिंग सोडा पाउडर बनाने के लिए किया जाता है ।

एल्यूमिनियम सल्फेट

इस फिटकरी को पेपर मेकर के रूप और नाम से जाना जाता है ।

सेलेनेट एलम

इस फिटकरी में सल्फर की जगह सेलेनियम मोजूद होता है इसलिए भी इसको सेलेनेट एलम कहा जाता है ।
 
Benefits of Anar  इसको भी जांनिए

फिटकरी के फायदे । FITKARI KE FAYDE IN HINDI


1. रक्तस्राव बन्द करे । Stop Bleeding

चोट लगी हो  ताजा घाव हो या ख़रोंच लगने से शरीर से रक्तस्राव हो रहा हो तो इसका सबसे बढ़िया उपाय Benefits of Alum In Hindi है ।
जहा  रक्तस्राव हो रहा हो उस घाव को फिटकरी के  पानी  से धोएं  और  फिटकरी  को पीसकर पाउडर  बनाएं  और  इसको  घाव  पर  लगाएं Bleeding जल्दी बन्द हो जाएगा ।
घाव पर फिटकरी ( Alum ) लगाकर कुछ देर रखकर घाव पर रगड़े और फिटकरी के पाउडर को बुरकने से घाव से रक्त बहना बन्द हो जाता है ।

Green tea ke fayde  इसको भी जानिए

2. घाव भरता है । Heals Wounds

शरीर पर घाव हो किसी दवा से फायदा नही मिल रहा हो तो घाव पर Fitkari लगाएं घाव भर जाएगा और जल्दी अच्छा हो जाएगा ।
इसके लिए फिटकरी को बरतन में डालकर अच्छी तरह गर्म करके राख बना लें और राख को अच्छे से पीस लें ।
अब इसको अपने घाव पर लगाए या बुरकाएं इससे घाव जल्दी ठीक हो कर भर जाता है ।
फिटकरी को पानी में डालकर घोलें फिर इससे घाव को धोएं और साफ करे धाव जल्दी अच्छा हो जाएगा ।

10 Amazing Benefits of eating dates इसको भी जानिए

3. नकसीर आना बन्द करे । Stop Nosebleed

नकसीर यानी नाक से ख़ून निकल रहा हो तो पानी में फिटकरी डालकर घोले फिर इसमें कपड़ा भिगोकर अपनी ललाट पर रखे १० मिनट में नाक से खून आना बन्द हो जाएगा ।
गाय के कच्चे दूध में फिटकरी घोलकर इसे सूंघने से नाक से खून आना नकसीर बन्द हो जाता है ।
एक गलास पानी में १/४ चम्मच फिटकरी को घोलकर दिन में तीन बार पिया जाए और तीन से चार बूंदें नाक में डाले नकसीर बन्द हो जाएगी ।

How to remove a mole naturally इसको भी जानिए

4. बवासीर में लाभ । Benefits In Piles

खूनी बवासीर हो और गुदा शरीर से बाहर निकल रहा हो तो फिटकरी को पानी में घोलकर इस घोल को गुदे पर लगाएं खून निकलना बन्द हो जाएगा और गुदा वापस अपनी जगा चला जाएगा ।
एक गलास गर्म पानी करके इसमें १/२ चम्मच पिसी हुई फिटकरी मिलाए और इससे गुदा को धोएं और कपड़े को फिटकरी के पानी में भिगाकर गुदे पर रखे ।
खून आना बन्द हो गा ओर गुदा बाहर निकलना बन्द हो जाएगा ।



5. गले के रोग में आराम।  Releive In Throad Desease

 थोडी सी फिटकरी में खाने का नमक और खानें का सोडा दोनो को समान मात्रा में मिलाकर एक कांच की बोतल में भरकर रख लें ।
एक ग्लास गर्म पानी में इस मिश्रण का एक चम्मच मिलाकर सुबह  उठने के बाद और  रात को सोने से पहले गरारे करें ।
इस प्रक्रिया से गले की खराश , गले मे जमा कफ , गले का दर्द और गले के रोगों मे आराम मिलता है ।

Superb health benefits of mango  इसको भी जानिए

6. मसूड़ों के दर्द में आराम । Releive Pain of Gums 

फिटकरी मे १/२ भाग नमक मिलाकर अच्छी तरह पीस लें फिर इसको अपने मसूड़ों पर रोज़ाना सुबह - शाम और रात में लगाएं ।
एक ग्लास गर्म पानी में थोडी सी पिसी फिटकरी मिलाकर इस पानी से कुल्ला करें इससे मसूड़े और दांत मजबूत होते हैं ।
Benefits of Alum in Hindi नियमित इस्तेमाल करनें से मसूड़ों की सूजन , दर्द ओर मवाद बिल्कुल खत्म हो जाता है ।

7. मलेरिया में फायदा । Releive In Malaria

मलेरिया के इलाज के लिए फिटकरी मे चीनी मिलाकर खिलाने से लाभ होता है ।
लगभग 2 ग्राम फिटकरी में 4 ग्राम चीनी मिलाकर मिश्रण बना ले अब इसमे से दो - दो चम्मच दो घण्टे से खिलाएं एक दिन में लगभग तीन बार खिलाएं ।
इस मिश्रण से मलेरिया नही आएगा और अगर  मलेरिया है तो बहुत जल्दी अच्छा हो जाएगा ।
इस मिश्रण को कब्ज़ के दोरान रोगी को न खिलाएं पहले कब्ज़ दूर करें फिर इस मिश्रण को रोगी को खिलाएं लाभ होगा ।

Benefits of Alum in Hindi
Alum For Loos Motion


Home remedies to stop loose motion  इसको भी जानिए

8. दस्त में आराम । Releive In Loose Motion

अगर  दस्त  ज्यादा  हो  रहें  हैं  तो  Fitkari मे  अफ़ीम  मिलाकर  खिलाने  से  रोगी  को  फायदा होता  है ।
लगभग 3 ग्राम अफ़ीम को पीसकर  20 ग्राम फिटकरी में मिलाकर मिश्रण बनाएं ।
इस मिश्रण में से लगभग छोटे चने के बराबर निकालकर पानी से रोगी को सुबह-शाम खिलाएं इससे दस्त में लाभ मिलेगा ।
अगर पेचिश हो रही हो तो इस मिश्रण को इसबगोल  की   भूसी के साथ खिलाए पेचिश बन्द  हो  जाएगी  और  ख़ून  निकलना  भी बन्द  हो  जाएगा ।


Sir ke khujli ka ilaj  इसको भी जानिए

9. खुजली से छुटकारा । Releive From Itching

फिटकरी और सुहागा को बराबर मात्रा में मिलाकर अचछी तरह पीस लें ।
अब इसको एक ग्लास गर्म पानी में 6 चम्मच घोलकर अपने बालो मे लगाकर मले । और आधा घंटा बाद सिर को धोएं ।
एक हफ्ते में तीन बार Fitkari  ke Fayde इस्तेमाल करे ओर महीने भर करते रहे । सिर की खुजली और जुएं बिल्कुल खत्म हो जाएंगी और बाल साफ़ और स्वस्थ हो जाएंगे ।
ध्यान रहे इस  पानी  को  अपनी  आंखों   में लगने  से बचाएं ।


10. सुजाक से राहत । Releive In Gonorrhea

सुजाक  में  पेशाब  करने  में  बहुत  दर्द  होता  जलन  पड़ती  है   और  पेशाब थोड़ा-थोड़ा  होता  है ।  दर्द  से   रोगी परेशान  हो  जाता  है । इसके  लिए  फिटकरी के फायदे बहुत उपयोगी  है ।
इसके लिए एक ग्लास पानी मे ५ग्राम फिटकरी पीसकर मिलाएं और अचछे से घोलकर रोगी को पिलाएं । 
कुछ दिन पिलाने से सुजाक ठीक हो जाएगा । पेशाब का दर्द और जलन दूर हो जाएगी और पेशाब आसानी से होने लगेगा ।


Benefits of Alum in Hindi
Alum For Cough


11. खांसी दूर करे ।  Releive In Cough

तवे पर लगभग १० ग्राम फिटकरी (Alum) डालकर अच्छी तरह भूनें जब फिटकरी का पानी पानी पूरी तरह जल जाए और फिटकरी राख हो जाएं तो इस ठंडा करके चीनी मिलाएं ।
अब इसकेे दो चम्मच सुबह-शाम सूखी खांसी(Cough) वाले रोगी को गर्म दूध के साथ खिलाएं लाभ मिलेगा ।
गीली खांसी वाले रोगी को दो चम्मच सुबह-शाम गर्म पानी के साथ खिलाने से खांसी में जल्दी आराम मिलेगा ।
 
12. दमा में आराम । Releive Asthma

दमा के रोगी के लिए Alum Uses in Hindi लाभदायक है । इसके लिए पिसी हुई फिटकरी में शहद मिलाकर खिलाने से दमा और पुरानी खांसी में लाभ होता है ।
गुलाब जल में आधा चम्मच फिटकरी मिलाकर सुबह-शाम  दमा के रोगी को पिलाने से दमा जल्दी ठीक हो जाता है ।
सांस तेज फूल रही हो दमा का जोर ज्यादा हो तो चने के बराबर फिटकरी मुंह में रखकर चूसने से दमा के जोर में फोरन आराम मिलता है ।
पिसी फिटकरी मे चीनी मिलाकर पानी के साथ खिलाने से दमा में भी जल्दी आराम मिलता है । 

फिटकरी के उपयोग ।  USES OF ALUM IN HINDI


1. गर्भपात से बचाव । Abortion Prevention

एक चोथाई चम्मच पिसी हुई फिटकरी को एक कप कच्चे दूध में डालकर इसकी लस्सी बनाए और गर्भवती महिला को पिलाएं  इससे गर्भपात रूक जाता है । 
अगर गर्भपात के समय तेज़ दर्द हो रहा हो या रक्तस्राव हो रहा हो तो इस लस्सी को दो दो घण्टे से पिलाएं जल्दी आराम मिलेगा ।
इसको उपयोग करने के साथ-साथ महिला रोग विशेषज्ञ से परामर्श जरूर करे और डा• के परामर्श से ही इलाज करें ।

2 . छाले दूर करे । Releive Blister


पानी  में  फिटकरी को (Alum) घोलकर  इससे  कुल्ला  करने  से  मुंह के  छाले  जल्दी  ठीक हो  जाते  हैं ।
एक ग्लास पानी में आधा चम्मच नमक और चोथाई चम्मच फिटकरी मिलाकर कुल्ला करे इससे मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं और दर्द भी दूर हो जाता है ।
फिटकरी को छालो पर उपयोग करने से छालो का दर्द कम हो जाता है और धीरे-धीरे छाले ठीक हो जाते है ।
जब तक छाले ठीक न हो जाए तब तक फिटकरी के फायदे उपयोग को करते रहे ।


3 . पसीने की बदबू से छुटकारा । Remove The Smell Of Sweat

Fitkari Ke Fayde  हमारे  शरीर  से  निकलने  वाले पसीने   की बदबू को दूर करता है ।
अगर  किसी  व्यक्ति  को  पसीना  अत्यधिक निकलता  है  और  पसीने  में  बदबू  भी बहुत आती  है  तो  इसके  लिए  नहाने  के पानी में फिटकरी  को  घोलकर  इस  पानी  से  नहाया जाए तो लाभ मिलेगा।
फिटकरी के पानी से नहाने से अत्यधिक पसीना  आना  कम  होगा  और  जो  पसीना शरीर  से  निकलेगा  उसमे  बदबू  बहुत  कम हो  जाएगी ।

4 . दांत दर्द में आराम । Releive in Toothache

दांत दर्द से छुटकारा पाने के लिए सबसे अच्छा आसान घरेलू नुस्खा है Alum Uses in Hindi 
दांत दर्द के लिए फिटकरी को पानी में मिलाकर इस पानी से कुल्ला करे जब तक दर्द हो रहा है ।
ये फिटकरी का पानी दांत दर्द को दूर कर देगा और दांतों को साफ करके मज़बूत और चमकदार बना देगा ।


Benefits of Alum in Hindi
Alum For Bad Mouth


5 . मुंह की बदबू से छुटकारा । Get Rid Of Bad Mouth 

कुछ लोगो के मुह से बहुत बदबू आती है ओर वो इससे परेशान होते हैं । इसके फिटकरी इस्तेमाल करना लाभदायक है ।
पानी में थोडी फिटकरी डालकर सुबह-शाम इससे  कुल्ला  करें  मुंह  की  बदबू  बहुत  जल्दी  दूर  हो  जाएगी ।
फिटकरी के फायदे हमारे मुह में बदबू पैदा करने वाले बेकटीरिया को मार देता है जिससे मुंह की बदबू खत्म हो जाती है । फिटकरी एक तरह का mouth freshner भी है ।

6. आंख दुखना से राहत । Get Rid Of Sore Eyes

चालीस ग्रांम गुलाब जल  में लगभग एक ग्रांम फिटकरी  मिलाकर  इसको एक बाटल में भरकर रख लें । 
इसकी दो - दो बूंदें सुबह-शाम आंखों में डालें इससे आंखों का दर्द दूर होगा और आंखों की लाली व गीजड़ आना बन्द हो जाएगा 
रात को सोते समय इसको डालने से आंखो में तरावट आती और रोगों से बचाव होता है । आंखों के रोग में इसको कुछ दिन तक इस्तेमाल करे लाभ मिलेगा ।

7. पित्ती निकलना । Releive Hives

अगर किसी के शरीर पर पित्ती निकल गई है और दवा से आराम नही हो रहा हो तो फिटकरी का इस्तेमाल करें आराम मिलेगा ।
इसके लिए आधा ग्लास गर्म पानी में आधा चम्मच पिसी हुई फिटकरी घोलकर शरीर पर जहां पित्ती निकली है उस जगा को इससे धोएं और वहा लगाएं ।
इससे खुजली , जलन, चकत्ते मिट जाएंगे और पित्ती भी जल्दी दूर हो जाएगी ।

8. उंगलियों की सूजन   ।   Releive Swelling Of Fingers 

पानी में ज्यादा काम करके भीग जाने से और सर्दी के मोसम में किसी-किसी की उंगलियों में सूजन आ जाती है या खाज हो जाता है तो Benefits of Alum In Hindi इसका अचूक इलाज है ।
एक कप पानी में फिटकरी डालकर इसको उबालें फिर इससे उंगलियों को धोएं और उंगलियों पर लगाएं ।
बहुत जल्दी उंगलियों की सूजन दूर हो जाएगी और खाज से आराम मिलेगा ।

फिटकरी के नुक़सान   ।   SIDE EFFECTS OF ALUM IN HINDI 

फिटकरी को अगर सही तरीके से इस्तेमाल करे तो Fitkari ke Fayde हासिल कर सकते हैं पर अगर सही तरीके से इस्तेमाल न करें तो Side Effects of Alum In Hindi  भी हो सकते है आइए हम जानते हैं फिटकरी के नुक़सान ।

1. नाज़ुक त्वचा पर फिटकरी ज्यादा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए इसका त्वचा पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है और त्वचा पर जलन , रेशेज हो सकतें हैं ।

2. लम्बे समय तक फिटकरी का सेवन करना हानिकारक हो सकता है । इससे कैंसर जैसी घातक बीमारी हो सकती है ।

3. फिटकरी के अधिक सेवन करने से कमज़ोर पाचन वालो को पैचिश हो सकती है और त्वचा में रूखापन की संभावना बड़ जाती है ।

4. Fitkari का अत्यधिक सेवन से पुरूषों में वीर्य को प्रभावित कर सकता है । इसके लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करके फिटकरी इस्तेमाल करें ।

5. गर्भावस्था में या स्तनपान कराने के दौरान फिटकरी अधिक सेवन करने से प्रभाव पड़ सकता है इसलिए अपनी महिला चिकित्सक से परामर्श करके Alum Uses in Hindi करे अन्यथा न करें ।

6. फिटकरी ज्यादा सूंघने से फेफड़ों पर इसका बुरा प्रभाव पड़ सकता है जिससे खांसी या सांस लेने में दिक्कत हो सकती है ।

7.  फिटकरी पानी में मिलाएं तो इससे अपनी आंखों को बचाएं इसका आंखों पर side effect हो सकता है ।

















कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.