अदरक के स्वास्थ्य लाभ । GINGER BENEFITS FOR HEALTH IN HINDI




 

अदरक के स्वास्थ्य लाभ । GINGER BENEFITS FOR HEALTH IN HINDI

रसोई में रखे खाद्य पदार्थ हमारे खाने स्वादिष्ट और पौष्टिक बनाने के साथ ही हमारी सेहत भी बनाते हैं कुछ खाद्य पदार्थ औषधीय के रूप में भी काम करते हैं। 

अदरक हमारे खाने का बहुत ख़ास हिस्सा है यह खाली हमारे खाने में स्वाद ही नही बढ़ाता बल्की यह हमें कई तरह के रोगो से बचने में मदद भी करता है क्योंकि इसमें औषधीय गुण भी मोजूद है। 

अदरक से बने देसी और घरेलू नुस्खे अपनाकर हम कइ तरह की परेशानियां और रोगों से बच सकते हैं इसलिए कहा जाता है कि अदरक को अपने खान पान में जरूर इस्तेमाल करें।


अदरक के फायदे । GINGER BENEFITS IN HINDI

अदरक से होने वाले फ़ायदे अनगिनत है पर हम आपको कुछ ख़ास फ़ायदे बताते हैं इनका उपयोग करके आप स्वास्थ्य लाभ ले सकते।


1. भूख बढ़ाता है

अदरक में भूख को बढ़ाने के गुण होते हैं। खाना खाने से 15 मिनट पहले अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े करके इनमें नमक लगाकर खाएं इसमें नींबू भी लगा सकते हैं।

एक चम्मच अदरक के रस में शहद मिलाकर खाएं इनसे भूख खुलकर लगने लगती है।

अदरक का सेवन‌ करते रहे शहद या नींबू के साथ फायदेमंद साबित होता है।


2. दस्त को रोके

अदरक या इसका रस का सेवन करने से अदरक के फ़ायदे  हमारे पेट को सही करके दस्त को ठीक कर देते हैं।

अदरक के रस को गर्म करके नाभी पर लगाएं और कपड़े में अदरक का रस लगाकर नाभी पर रखें इससे दस्त आना बंद हो जाता है।

आधा कप पानी में एक चम्मच अदरक का रस मिलाकर गर्म करें फिर गर्म गर्म इस पानी को दिन में चार से पांच बार पिएं पुराना दस्त और पतले दस्त आना बंद हो जाते हैं।




3. एसीडिटी दूर करे

अदरक खाने के फ़ायदे हमें एसिडिटी से बचाने में मदद करते हैं। पिसा हुआ अदरक चार चम्मच और सूखा हुआ धनियां चार चम्मच एक गिलास पानी में ले कर उबालें।

जब पानी आधा हो जाए तो इसको छांनकर दिन में तीन बार उपयोग करें इससे अम्लपित्त एसीडिटी ठीक हो जाती है।


4. ज़ुकाम दूर करे

अगर ज़ुकाम हो जाए तो दो कप पानी में अदरक के टुकड़े करके एक चम्मच मिलाएं और इसको अचछी तरह उबालें।  

जब पानी आधा रह जाए तो इसमें दूध और शक्कर मिलाकर गर्म गर्ग सुबह-शाम पिएं इससे ज़ुकाम में बहुत आराम मिलता है।

आधा कप पानी गर्म करें फिर इसमें आधा चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच अदरक का रस मिलाएं और दिन में दो बार पिएं इससे ज़ुकाम ठीक हो जाता है और नाक से पानी आना भी बंद हो जाता है।


5. खांसी ठीक करें

दस ग्राम अदरक के टुकड़े करके इसको एक एक कप पानी इसमें दूध और शक्कर मिलाकर उबाल कर पिएं इससे खांसी और ज़ुकाम ठीक हो जाता है।

घी और गुड़ मिलाकर गर्म करें फिर इसमें पिसी हुई सोंठ दस ग्राम मिलाएं फिर इसको सुबह नहार मूंह इस्तेमाल करें खांसी और ज़ुकाम ठीक हो जाएगा।

इसी उपाय को दिन में तीन बार कुछ दिन करने से खांसी और बलग़म दूर हो जाता है।


6. पेट कम करे

पेट बढ़ जाए और तौंद बाहर निकल आए तो इसके लिए अदरक का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है।

थोड़ा सा अदरक लें लगभग दस ग्राम फिर इसके छोटे-छोटे टुकड़े करके तवे पे डालकर पानी के साथ भूंन लें जब पानी खत्म हो जाए तो घी डालकर सेक लें।

जब अदरक के टुकड़े अचछी तरह सिक जाएं तो इनको खाना खाने से पहले खाएं इससे बड़ी हुई तौंद कुछ दिनों में कम हो जाएगी।




7. पेट दर्द में आराम

अदरक को छीलकर छोटे-छोटे टुकड़े कर लें फिर इसमें से एक चौथाई अदरक ले कर इसमें थोड़ा सेंधा नमक , एक नींबू का रस मिलाकर खाना खाने से पहले खाएं।

दस दिन इस उपाय को करने से पेट दर्द , गैस बनना  और कब्ज़ रोग से बहुत जल्दी छुटकारा मिल जाता है।


8. उच्च रक्तचाप में राहत

अदरक में औषधीय गुण होने के कारण हम इससे कई फायदे हासिल कर सकते हैं अगर उच्च रक्तचाप हो तो अदरक का उपयोग करके इसको नियंत्रित किया जा सकता है।

अदरक की चाय बनाकर पिया जाए तो यह उच्च रक्तचाप को बहुत जल्दी नियंत्रित कर लेता है क्योंकि अदरक में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं जो उच्च रक्तचाप को कम करने में बहुत कारगर होते हैं।

उच्च रक्तचाप के रोगियों को अदरक फ़ायदा पहुंचाता है।


9. दिल को मजबूत करे

दिल कमज़ोर हो , दिल बेठा सा लगे या दिल की धड़कनें कम हो जाएं तो सोंठ का काढ़ा बनाकर इसमें नमक मिलाकर गर्ग गर्म एक प्याला रोज़ाना पीएं दिल के रोग में बहुत लाभ होता है।

दिल के रोगियों को एक गिलास पानी में एक चम्मच अदरक का रस डालकर पीना चाहिए लाभ मिलेगा।


10. गर्भपात को रोके

गर्भ नही ठहरता और बार बार गर्भपात हो जाता है तो ऐसी महिलाओं को गर्भावस्था में आधा चम्मच सोंठ में एक चौथाई मुलहठी मिलाकर इसको 250 ग्राम दूध में उबालकर पीना चाहिए इससे गर्भपात नहीं होगा।

अगर अचानक गर्भ ठहर जाए या प्रसव वेदना ज़्यादा हो रही हो तो इसी तरह सोंठ का उपयोग करने से वेदना कम हो जाती है। इससे गर्भ भी महफूज़ रहता है।




11. प्रतिरोध क्षमता को बढ़ाए 

अदरक के फ़ायदे हमारी प्रतिरोधक क्षमता को मज़बूत बनाते हैं जिसके कारण हमारा रोगों से बचना आसान हो जाता है।

हमारे शरीर की प्रतिरोध - क्षमता हमें सर्दी - खांसी तथा फ्लू और हर तरह के संक्रमण से बचाकर शरीर को स्वस्थ्य रखने में मदद करती है।

प्रतिरोध क्षमता बढ़ाने के लिए अदरक और शहद खाएं ,अदरक की चाय का उपयोग करें और अदरक के रस में नींबू मिलाकर उपयोग करें।


12. मतली को रोके

जिन लोगों को चक्कर आते हैं और मतली अकसर होती हो या सफर करने में बस या ट्रेन में मतली या उलटी हो जाती हो तो अदरक आ उपयोग फायदेमंद होता है।

सफर करने से पहले अदरक की चाय पिएं या अदरक के रस में शहद मिलाकर खाएं इससे मतली , उल्टी होना और घबराहट दूर हो जाता‌ है और आराम मिलता है।




अदरक के उपयोग । HOW TO USE GINGER IN HINDI

अदरक को हम कई तरह से उपयोग कर सकते हैं आइए जानें अदरक के उपयोग क्या है।

1. अदरक को सब्ज़ी बनाने के लिए मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

2. अदरक का अचार बनाकर इसके फ़ायदे हासिल कर सकते हैं।

3. अदरक को पीसकर इसका पाउडर बनाकर उपयोग किया जा सकता है।

4. अदरक की चाय बनाकर उपयोग किया जाता है।

5. अदरक का रस निकालकर इसको नींबू और शहद के साथ दवा के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

6. अदरक की सोंठ बनाकर उपयोग किया जाता है।


अदरक के नुक़सान । SIDE EFFECTS OF GINGER IN HINDI

अदरक के फ़ायदे तो बहुत है पर इसके कुछ नुक़सान भी है आइए हम आपको बताते हैं कि अदरक खानें के नुक़सान क्या है।

1. अदरक ब्लड प्रेशर को कम करता है इसलिए जो लोग ब्लड प्रेशर की दवा उपयोग करते हैं उनको अपने डॉक्टर से परामर्श करके अदरक का उपयोग करना चाहिए।

2. अदरक शुगर लेवल को कम करता है इसलिए डायबिटीज की दवा खाने वालों को अदरक बहुत कम उपयोग करना चाहिए।

3. अदरक ब्लड को पतला करता है इसलिए मासिक धर्म के समय महिलाओं को अदरक बहुत कम उपयोग करना चाहिए इससे नुक़सान हो सकता है।

4. अगर किसी को अदरक ज़्यादा उपयोग करने से त्वचा में एलर्जी हो जाती है इसलिए ऐसे लोगों को अदरक का सेवन करने से बचना चाहिए।




HealthZone3.com

Syed Zafar Iqbal is the founder, developer, and author of HealthZone3.com . What began as a grad school hobby is now a top Health blog, with millions of readers coming to his site for reading health related content . He lives and continues to write non-stop in Madhya Pradesh . His first blogpost was published in 2020 . Visit him at Healthzone3.Com .

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने